ऐलान-ए-जंग

Latest news

अधूरी रह जाएगी टैक्स चोरों की हसरत! नया बजट का एक ऐलान

नई दिल्ली:- बीते 1 फरवरी को पेश हुए आम बजट में टैक्सपेयर्स को बहुत बड़ी राहत तो नहीं मिली है लेकिन एक ऐलान ऐसा भी हुआ है जिसने टैक्स चोरी करने वालों की टेंशन बढ़ा दी है। टैक्स का भुगतान न करने वाले लोगों के मामले में प्रस्‍ताव है कि तलाशी या छानबीन अभियान के दौरान पता चली किसी भी अघोषित आय को किसी भी प्रकार हानि या नुकसान के रूप में स्‍वीकृति नहीं दी जाएगी। मतलब ये हुआ कि अगर किसी टैक्स चोर के यहां छापेमारी होती है और अघोषित आय मिलती है तो उसे नुकसान के साथ समायोजित नहीं किया जाएगा और ना ही लौटाया जा सकेगा।

हाल ही में कानपुर के इत्र कारोबारी पीयूष जैन के ठिकानों से 170 करोड़ रुपए से ज्यादा कैश और 20 किलो से अधिक सोने की बरामदगी की गई थी। इसके बाद पीयूष जैन की गिरफ्तारी हुई। पीयूष जैन ने अघोषित आय को लेकर नियमों में पारदर्शिता नहीं होने की वजह से कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। पीयूष जैन ने कोर्ट में गुहार लगाई कि टैक्स चोरी के पैसे काटकर बाकी रकम उसे वापस कर दी जाए। पीयूष जैन ने जुर्माना देने की भी बात कही थी। हालांकि, अब आम बजट के नए प्रावधान से ये स्पष्ट हो गया है कि सरकार अघोषित आय को ना तो लौटाएगी और ना ही इसे किसी अन्य तरीके से समायोजित करेगी।

Leave a Comment

Your email address will not be published.